गलवान घाटी पर भारत (India) और चीन (China) के बीच हुए सीमा विवाद को लेकर चीन की बयानबाजी जारी है. मंगलवार को चीन के राजदूत कुई तियानकाई ने अमेरिका में कहा कि परमाणु सशस्त्र एशियाई शक्तियों के बीच संबंधों पर हावी नहीं होना चाहिए. कुई तियानकाई ने कहा कि मुझे नहीं लगता है कि इस मुद्दे को चीन और भारत के बीच संबंधों में हावी होना चाहिए. इतना ही नहीं चीनी राजदूत ने यह भी कहा कि मुझे नहीं लगता कि यह हमारे भारतीय दोस्तों का दृष्टिकोण है. ASPEN SECURITY FORUM में एक कार्यक्रम के दौरान चीनी राजदूत ने भारत-चीन सीमा पर हुए विवाद को लेकर ये बयान दिया है.

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच लद्दाख में सीमा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. बता दें कि 15,16 जून की रात भारत चीन सीमा पर हुई हिंसक झड़प ने भारत और चीन को टकराव के मुहाने पर ला खड़ा किया है. एलएसी के दोनों ओर एशिया के इन दो ताक़तवर देशों की सेनाएं खड़ी हैं. हालांकि दोनों देशों के बीच शांति वार्ता भी लगातार जारी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here