नई दिल्ली: आईपीएल का 13वां सीज़न 19 सितंबर से दुबाई में शुरू होने जा रहा है. इसके लिए हुकूमत की जानिब से इजाज़त दे दी गई है. लेकिन कारोबारी संगठन कैट (The Confederation of All India Traders) ने मरकज़ी वज़ीरे दाखिला अमित शाह और वज़ीरे खारजा एस जयशंकर को कहा है से अपील की है वो दुबाई में आईपीएल की इजाज़त न दें. 

कैट ने कहा, ‘हमने शाह और जयशंकर को एक खत भेजा है, जिसमें दुबई में आईपीएल ना कराने के लिए बीसीसीआई को मंजूरी नहीं देने की अपील की गई है. ये हुकूमत की पॉलिसियों की खिलाफवर्ज़ी होगी.’ खत में सीएआईटी के कौमी सद्र बी.सी. भरतिया और जनरल सैक्रेटरी प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि ऐसे में हिंदुस्तानी बॉर्डर पर चीनी हमले ने हिंदुस्तान में चीन मुखालिफ जज़्बात को जन्म दिया, तो बीसीसीआई का फैसला हुकूमत के फैसलों के खिलाफ है.

कोरोना वायरस महामारी की वजह से ओलंपिक और विंबलडन जैसे टूर्नामेंटों को रद्द करने का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि बीसीसीआई के फैसले की सख्त मज़म्मत की जानी चाहिए. बीसीसीआई का ये कदम पैसों के तईं उसके लालच को ज़ाहिर करता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here